Ae Mere Dost (From "Swarg")

ऐ मेरे दोस्त, लौट के आजा
बिन तेरे ज़िंदगी अधूरी है

ऐ मेरे दोस्त, लौट के आजा
बिन तेरे ज़िंदगी अधूरी है
आ के तो देख मेरी हालत को
बिन तेरे हर ख़ुशी अधूरी है
ऐ मेरे दोस्त, लौट के आजा

बन के हमदर्द, मेरा हमसाया
तू मेरी ज़िंदगी में आया था
बन के हमदर्द, मेरा हमसाया
तू मेरी ज़िंदगी में आया था

प्यार अपनों से भी ज़्यादा किया मुझे तूने
लोग कहते हैं, तू पराया था
लोग कहते हैं, तू पराया था

ऐ मेरे दोस्त, लौट के आजा
बिन तेरे ज़िंदगी अधूरी है
ऐ मेरे दोस्त, लौट के आजा

मेरे दिल से यही दुआ निकले
तू जहाँ भी रहे, ख़ुशहाल रहे
मेरे दिल से यही दुआ निकले
तू जहाँ भी रहे, ख़ुशहाल रहे

भूल के भी ना भुला पाऊँ मैं तुझे, हमदम
हर घड़ी बस तेरा ख़याल रहे
हर घड़ी बस तेरा ख़याल रहे

ऐ मेरे दोस्त, लौट के आजा
बिन तेरे ज़िंदगी अधूरी है
ऐ मेरे दोस्त, लौट के आजा

याद आते हैं जब करम तेरे
मेरी आँखों से अश्क बहते हैं
याद आते हैं जब करम तेरे
मेरी आँखों से अश्क बहते हैं

तेरे एहसानों का बदला मैं चुकाऊँ कैसे
बहते आँसू ये मुझसे कहते हैं
बहते आँसू ये मुझसे कहते हैं

ऐ मेरे दोस्त, लौट के आजा
बिन तेरे ज़िंदगी अधूरी है
आ के तो देख मेरी हालत को
बिन तेरे हर ख़ुशी अधूरी है
ऐ मेरे दोस्त, लौट के आजा



Credits
Writer(s): Milind Shrivastav, Sameer, Anand Shrivastav
Lyrics powered by www.musixmatch.com

Link