Dhol Baaje

सुनी सी कलाई में इतराने लगा
सोना कंगना
ली जो अंगड़ाई, गुनगुनाने लगा
मोरा अंगना

मेरी खुशबू से खिले कलियाँ
चाँद ढूंढे बस मोरी गालियां
खनक खनक के, छनक छनक के
छनक छनक के, खनक खनक के
बोल रहे हैं पैजनियाँ
के बोल

ढोली तारो ढोल
ध ध ध ध ढोल, ध ध ध ध ढोल
ध ध ध ध ढोल, ध ध ध ध ढोल

रे ढोली तारो तारो ढोल बाजे
ढोल बाजे, ढोल बाजे ढोल
के ढम ढम बाजे ढोल

रे ढोली तारो तारो ढोल बाजे
ढोल बाजे, ढोल बाजे ढोल
के ढम ढम बाजे ढोल

कारी कारी अँखियों में कजरा लगाया है
कारी कारी बालों में गजरा सजाया है

कारी कारी अँखियों में कजरा लगाया है
कारी कारी बालों में गजरा सजाया है

बोले माथे की ये मोरी बिंदिया
मैंने खुद की चुरा ली निंदिया
खनक खनक के, छनक छनक के
छनक छनक के, खनक खनक के
बोल रहे हैं पैजनि के बोल

ढोली तारो तारो ढोल बाजे
ढोल बाजे, ढोल बाजे ढोल
के ढम ढम बाजे ढोल

रे ढोली तारो तारो ढोल बाजे
ढोल बाजे, ढोल बाजे ढोल
के ढम ढम बाजे



Credits
Writer(s): Kumaar,mehboob Kotwal
Lyrics powered by www.musixmatch.com

Link