Saawli Saloni Teri - From "Hum Sub Chor Hain"

साँवली सलोनी तेरी झील-सी आँखें
इनमें न जाने कहाँ खो गया है मेरा दिल
साँवली सलोनी तेरी झील-सी आँखें
इनमें न जाने कहाँ खो गया है मेरा दिल

साँवरे सलोने तेरी मीठी-मीठी बातें
कर दिया तूने मेरा प्यार में जीना मुश्किल
साँवरे सलोने तेरी मीठी-मीठी बातें
कर दिया तूने मेरा प्यार में जीना मुश्किल

मैंने कोरे दिल पे हमदम
तेरा नाम लिखा है
मैंने तेरे नाम ये अपने
सुबह-शाम लिखा है
रूप है तेरा मेरी आँखों में
रूप है तेरा मेरी आँखों में
खुशबू है तेरी मेरी साँसों में
चेहरे को ऐसे चूमे ज़ुल्फ़ें तुम्हारी
जैसे के लहरों से मिल जाये कोई साहिल
साँवली सलोनी तेरी झील-सी आँखें
इनमें न जाने कहाँ खो गया है मेरा दिल
साँवरे सलोने तेरी मीठी-मीठी बातें
कर दिया तूने मेरा प्यार में जीना मुश्किल

तू ख्यालों में ख़्वाबों में
हर पल तेरी बातें
जैसे तैसे दिन कटता है
कटती नहीं हैं रातें
नींद तूने लूटी, चैन मेरा छीना
नींद तूने लूटी, चैन मेरा छीना
बिन तेरे नहीं, अब हमें जीना
लगती है ऐसे तेरे होठों की लाली
जैसे की फूलों में हो दिन का रंग शामिल

साँवली सलोनी तेरी झील-सी आँखें
इनमें न जाने कहाँ खो गया है मेरा दिल
साँवरे सलोने तेरी मीठी-मीठी बातें
कर दिया तूने मेरा प्यार में जीना मुश्किल



Credits
Writer(s): Bappi Lahiri
Lyrics powered by www.musixmatch.com

Link