Mohabbat Ho Na Jaye - From "Kasoor"

हेऽऽ ललला, ललला, लालालालालाला
ललला, ललला, लालालालालाला

देखा जो तुमको यह दिल को क्या हुआ है
मेरी धड़कनों पे यह छाया क्या नशा है, हाँ
देखा जो तुमको यह दिल को क्या हुआ है
मेरी धड़कनों पे यह छाया क्या नशा है, हाँ

मोहब्बत होना जाए दीवाना खोना जाए
संभालूँ कैसे इसको मुझे तो बता
मोहब्बत होना जाए दीवाना खोना जाए
संभालूँ कैसे इसको मुझे तो बता

देखा जो तुमको यह दिल को क्या हुआ है
मेरी धड़कनों पे यह छाया क्या नशा है, हाँ

भीगी भीगी अलकों से, चोरी चोरी पलकों से
क्यूँ मेरा सपना चुराए
झुकीं झुकीं अँखियों से, धीरे धीरे बत्तियों से
क्यूँ मुझे अपना बनाए
मेरी नज़रों पे छाए खुशबू के जैसे आए
मेरा तन मन महकाये
साँसों में ये पलपल जाने कैसे हलचल
कुछ भी समझ में ना आए

शरारत होना जाए मोहब्बत होना जाए
संभालूँ कैसे इसको मुझे तो बता
शरारत होना जाए मोहब्बत होना जाए
संभालूँ कैसे इसको मुझे तो बता

मेरी है यह मुश्किल अब तो यह मेरा दिल
बस में हुज़ूर नहीं है
इतना बता दे मुझे कैसे समझाऊँ तुझे
मेरा यह कसूर नहीं है
चाहें हम चाहें भी तो पहरे लगाए भी तो
कैसे दिन रात को रोकें
आग बिना यह जले, जोर ना कोई चले
कैसे जज्बात को रोकें

यूँ चाहत होना जाए मोहब्बत होना जाए
संभालूँ कैसे इसको मुझे तो बता
यूँ चाहत होना जाए मोहब्बत होना जाए
संभालूँ कैसे इसको मुझे तो बता

देखा जो तुमको यह दिल को क्या हुआ है
मेरी धड़कनों पे यह छाया क्या नशा है, हाँ

मोहब्बत होना जाए दीवाना खोना जाए
संभालूँ कैसे इसको मुझे तो बता
मोहब्बत होना जाए दीवाना खोना जाए
संभालूँ कैसे इसको मुझे तो बता



Credits
Writer(s): Sameer Lalji Anjaan
Lyrics powered by www.musixmatch.com

Link