Zehnaseeb (From "Hasee Toh Phasee")

ज़हनसीब, ज़हनसीब
तुझे चाहूं बेताहाशा ज़हनसीब
मेरे क़रीब, मेरे हबीब
तुझे चाहूं बेताहाशा जहनसीब
तेरे संग बीते हर लम्हे पे
हमको नाज़ है
तेरे संग जो न बीते
उसपे ऐतराज़ है
इस क़दर हम दोनों का मिलना
एक राज़ है
हुआ अमीर दिल ग़रीब
तुझे चाहूं बेताहाशा ज़हनसीब
ज़हनसीब, ज़हनसीब
तुझे चाहूं बेताहाशा ज़हनसीब
लेना-देना नहीं दुनिया से मेरा
बस तुझ से काम है
तेरी आँखियों से शहर में
यारा सब इंतज़ाम है
ख़ुशियों का एक टुकड़ा मिले
या मिले ग़म खुशचले
यारा तेरे मेरे खर्चे में
दोनों का ही एक दाम है
होना लिखा था यूँही जो हुआ
या होते होते अभी अनजाने में हो गया
जो भी हुआ, हुआ अजीब
तुझे चाहूं बेतहाशा ज़हनसीब
ज़हनसीब, ज़हनसीब
तुझे चाहूं बेतहाशा ज़हनसीब
हुआ अमीर दिल ग़रीब
तुझे चाहूं बेताहाशा ज़हनसीब
ज़हनसीब, ज़हनसीब
तुझे चाहूं बेताहाशा
तुझे चाहूं बेताहाशा ज़हनसीब



Credits
Writer(s): Shekhar Hasmukh Ravjiani, Vishal Dadlani, Bhattacharya Amitava
Lyrics powered by www.musixmatch.com

Link