Khamoshiyan Gungunane Lagi, Pt. 2

खामोशियां गुनगुनाने लगी
तनहाईयां मुस्कुराने लगी
खामोशियां गुनगुनाने लगी
तनहाईयां मुस्कुराने लगी

खामोशियां गुनगुनाने लगी
तनहाईयां मुस्कुराने लगी
सरगोशी करे हवा, चुपके से मुझे कहा
दिल का हाल बता, दिलबर से ना छूपा
सुनके बात ये शर्म से मेरी आँखे झूक जाने लगी

खामोशियां गुनगुनाने लगी
तनहाईयां मुस्कुराने लगी
सरगोशी करे हवा, चुपके से मुझे कहा
दिल का हाल बता, दिलबर से ना छूपा
सुनके बात ये शर्म से मेरी आँखे झूक जाने लगी

जाग उठा है सपना, किसका मेरे इन आँखों में
एक नई ज़िन्दगी शामिल हो रही साँसों में
किसी की आती है सदा हवाओं में
किसी की बातें है दबी सी होठों में
रातदिन मेरी आँखों में कोई परछाई लहराने लगी

खामोशियाँ गुनगुनाने लगी
तनहाईयाँ मुस्कुराने लगी
दिल का ये कारवां, यूँ ही था रवां दवां
मंजिल ना हमसफर, लेकिन ऐ मेहरबा
तेरी वो एक नजर, कर गयी असर, दुनिया सवर जाने लगी

बेखयाली में भी आता है ख्याल तेरा
बेकरारी मेरी करती है सवाल तेरा
तेरी वफाओ की उम्मीद है मुझको
तेरी निगाहो की पनाह दे मुझको
सुन-ऐ-हमनशीं आस ये तेरी
मुझको तड़पाने लगी

खामोशियाँ गुनगुनाने लगी
खामोशियाँ गुनगुनाने लगी
तनहाईयाँ मुस्कुराने लगी
तनहाईयाँ मुस्कुराने लगी

दिल का ये कारवां, यूँ ही था रवां दवां
मंजिल ना हमसफर, लेकिन ऐ मेहरबा
तेरी वो एक नजर, कर गयी असर, दुनिया सवर जाने लगी

खामोशियाँ गुनगुनाने लगी
तनहाईयाँ मुस्कुराने लगी



Credits
Writer(s): A R Rahman, Mehoob
Lyrics powered by www.musixmatch.com

Link