Kamal Hai

कमाल है, कमाल है, कमाल है, कमाल है
(कमाल है, कमाल है, कमाल है, कमाल है)

हम फ़कीरों को पता भई...
हम फ़कीरों को पता भई सबके दिल का हाल, सबके दिल का हाल
(कमाल है, कमाल है, कमाल है, कमाल है)

कमाल है, कमाल है, कमाल है, कमाल है
हम फ़कीरों को पता भई सबके दिल का हाल, सबके दिल का हाल
(कमाल है, कमाल है, कमाल है, कमाल है)

ओ, फ़कीर देख तो हो गया है क्या मुझे
मीठे-मीठे दर्द की दे कोई दवा मुझे
ओ, फ़कीर देख तो हो गया है क्या मुझे
मीठे-मीठे दर्द की दे कोई दवा मुझे

अरे, भूत मैं उतार दूँ, रोग हो तो मार दूँ
भूत मैं उतार दूँ, रोग हो तो मार दूँ

पर मैं इसका क्या करूँ ये तो प्रेम जाल है, ये तो प्रेम जाल है

कमाल है, कमाल है, कमाल है, कमाल है
(कमाल है, कमाल है, कमाल है, कमाल है)

ओ, ख़ुदा के नेक बंदे, चल मुझे जवाब
आसमाँ पे कितने तारे हैं? ज़रा हिसाब दे
सारे गुलिस्तानों के फूल गिन के देख लो
सारे गुलिस्तानों के फूल गिन के देख लो

जितने फूल उतने तारे, ये मेरा ख़याल है, ये मेरा ख़याल है

कमाल है, कमाल है, कमाल है, कमाल है
(कमाल है, कमाल है, कमाल है, कमाल है)

अरी कन्या, तू भी कुछ सवाल कर
साफ़ दिल का हाल कर
मैं बताता हूँ बाबा

इसके होंठों पे रुकी है कई प्यार की कहानियाँ
इसके होंठों पे रुकी है कई प्यार की कहानियाँ
आ रही है फिर से इसके प्यार पर जवानियाँ
(जवानियाँ, जवानियाँ, जवानियाँ, जवानियाँ)

अरे, नासमझ, नासमझ है तू बड़ी
नासमझ है तू बड़ी, अकल से तू काम से
वो जो तेरे दिल में है उसका हाथ थाम ले, उसका हाथ थाम ले

अरे, तूने अपने आप ही तो बुना ये जाल है

जाल है, कमाल है, जाल है, कमाल है
(धमाल है, धमाल है, धमाल है, धमाल है)

हम फ़कीरों को पता भई सबके दिल का हाल, सबके दिल का हाल
अरे, हम फ़कीरों को पता भई सबके दिल का हाल, सबके दिल का हाल

(कमाल है, धमाल है, कमाल है, धमाल है)
(कमाल है, कमाल है, कमाल है, धमाल है)
(कमाल है, धमाल है, कमाल है, धमाल है)
(कमाल है, धमाल है, कमाल है, धमाल है)



Credits
Writer(s): Anand Bakshi, Kudalkar Laxmikant, Pyarelal Lakshmikant
Lyrics powered by www.musixmatch.com

Link