Dard-E-Dil Dard-E-Jigar

दर्द-ए-दिल, दर्द-ए-जिगर दिल में जगाया आपने
दर्द-ए-दिल, दर्द-ए-जिगर दिल में जगाया आपने
पहले तो मैं शाइर था
पहले तो मैं शाइर था, आशिक़ बनाया आपने
दर्द-ए-दिल, दर्द-ए-जिगर दिल में जगाया आपने
दर्द-ए-दिल, दर्द-ए-जिगर दिल में जगाया आपने

आपकी मदहोश नज़रें कर रही हैं शायरी
आपकी मदहोश नज़रें कर रही हैं शायरी
ये ग़ज़ल मेरी नहीं, ये ग़ज़ल है आपकी

मैंने तो बस वो लिखा, जो कुछ लिखाया आपने
दर्द-ए-दिल, दर्द-ए-जिगर दिल में जगाया आपने
दर्द-ए-दिल, दर्द-ए-जिगर दिल में जगाया आपने

कब-कहाँ सब खो गई, जितनी भी थी परछाइयाँ?
उठ गई यारों की महफ़िल, हो गई तन्हाइयाँ
कब-कहाँ सब खो गई, जितनी भी थी परछाइयाँ?
उठ गई यारों की महफ़िल, हो गई तन्हाइयाँ

क्या किया, शायद कोई पर्दा गिराया आपने
दर्द-ए-दिल, दर्द-ए-जिगर दिल में जगाया आपने
दर्द-ए-दिल, दर्द-ए-जिगर दिल में जगाया आपने

और थोड़ी देर में बस हम जुदा हो जाएँगे
और थोड़ी देर में बस हम जुदा हो जाएँगे
आपको ढूँढूँगा कैसे? रास्ते खो जाएँगे

नाम तक भी तो नहीं अपना बताया आपने
दर्द-ए-दिल, दर्द-ए-जिगर दिल में जगाया आपने
पहले तो मैं शाइर था, आशिक़ बनाया आपने
दर्द-ए-दिल, दर्द-ए-जिगर दिल में जगाया आपने

ला-ला-ला, ला-ला-ला-ला
ला-ला-ला-ला-ला, ला-ला-ला
ला-ला-ला, ला-ला-ला-ला
ला-ला-ला-ला-ला, ला-ला-ला



Credits
Writer(s): Anand Bakshi, Laxmikant Pyarelal (in 1)
Lyrics powered by www.musixmatch.com

Link