Kitna Haseen Hai Mausam

कितना हसीं है मौसम, कितना हसीं सफ़र है
साथी है ख़ूबसूरत, ये मौसम को भी ख़बर है
कितना हसीं है मौसम, कितना हसीं सफ़र है
साथी है ख़ूबसूरत, ये मौसम को भी ख़बर है

मिलती नहीं है मंज़िल राही जो हो अकेला
दो हो तो फिर जहाँ भी चाहे लगा लो मेला

दिल मिल गए तो फिर क्या, जंगल भी एक घर है
साथी है ख़ूबसूरत, ये मौसम को भी ख़बर है
कितना हसीं है मौसम, कितना हसीं सफ़र है
साथी है ख़ूबसूरत, ये मौसम को भी ख़बर है

ना जाने ये हवाएँ क्या कहना चाहती हैं
ना जाने ये हवाएँ क्या कहना चाहती हैं
पंछी, तेरी सदाएँ क्या कहना चाहती हैं?
पंछी, तेरी सदाएँ क्या कहना चाहती हैं?

कुछ तो है आज जिसका, हर चीज़ पर असर है
साथी है ख़ूबसूरत, ये मौसम को भी ख़बर है
कितना हसीं है मौसम, कितना हसीं सफ़र है
साथी है ख़ूबसूरत, ये मौसम को भी ख़बर है

क़ुदरत ये कह रही है, "आ, दिल से दिल मिला ले
उल्फ़त से आग ले कर दिल का दीया जला ले"

सच्ची अगर लगन है, फिर किसका तुझको डर है?
साथी है ख़ूबसूरत, ये मौसम को भी ख़बर है
कितना हसीं है मौसम, कितना हसीं सफ़र है
साथी है ख़ूबसूरत, ये मौसम को भी ख़बर है



Credits
Writer(s): Rajinder Krishan, Chitalkar Ramchandra
Lyrics powered by www.musixmatch.com

Link