Aapke Pyaar Mein (From "Raaz")

आपके प्यार में हम सँवरने लगे
देख के आपको हम निखरने लगे
इस कदर आपसे हमको मोहब्बत हुई
इस कदर आपसे हमको मोहब्बत हुई
टूट के बाज़ुओं में बिखरने लगे
आपके प्यार में हम सँवरने लगे

आप जो इस तरह से तड़पायेंगे
ऐसे आलम में पागल हो जायेंगे
आप जो इस तरह से तड़पायेंगे
ऐसे आलम में पागल हो जायेंगे
वो मिल गया जिसकी हमें, कब से तलाश थी
बेचैन-सी इन साँसों में जन्मों की प्यास थी

जिस्म से रूह में हम उतरने लगे
जिस्म से रूह में हम उतरने लगे
इस कदर आपसे हमको मोहब्बत हुई
इस कदर आपसे हमको मोहब्बत हुई
टूट के बाज़ुओं में बिखरने लगे
आपके प्यार में हम सँवरने लगे

रूप की आँच से तन पिघल जायेगा
आग लग जाएगी, मन मचल जायेगा
रूप की आँच से तन पिघल जायेगा
आग लग जाएगी, मन मचल जायेगा
ये लब ज़रा टकराए जो, दिलबर के होंठ से
चिंगारियाँ उड़ने लगी, शबनम की चोट से

हम सनम हद से आगे गुज़रने लगे
हम सनम हद से आगे गुज़रने लगे
इस कदर आपसे हमको मोहब्बत हुई
इस कदर आपसे हमको मोहब्बत हुई
टूट के बाज़ुओं में बिखरने लगे
टूट के बाज़ुओं में बिखरने लगे
आपके प्यार में हम सँवरने लगे



Credits
Writer(s): Muhammad Irfan
Lyrics powered by www.musixmatch.com

Link