Mere Haath Mein

अब्बा

मेरे हाथ में तेरा हाथ हो
सारी जन्नतें मेरे साथ हों
मेरे हाथ में तेरा हाथ हो
सारी जन्नतें मेरे साथ हों

तू जो पास हो फिर क्या ये जहाँ?
तेरे प्यार में हो जाऊँ फ़ना

मेरे हाथ में तेरा हाथ हो
सारी जन्नतें मेरे साथ हों
तू जो पास हो फिर क्या ये जहाँ
तेरे प्यार में हो जाऊँ फ़ना

मेरे हाथ में तेरा हाथ हो
सारी जन्नतें मेरे साथ हों

तेरे दिल में मेरी साँसों को पनाह मिल जाए
तेरे इश्क़ में मेरी जाँ फ़ना हो जाए

जितने पास है खुशबू साँस के
जितने पास होंठों के सरगम
जैसे साथ है करवट याद के
जैसे साथ बाँहों के संगम

जितने पास-पास ख़ाबों के नज़र
उतने पास तू रहना, हमसफ़र
तू जो पास हो फिर क्या ये जहाँ?
तेरे प्यार में हो जाऊँ फ़ना

मेरे हाथ में तेरा हाथ हो
सारी जन्नतें मेरे साथ हों

रोने दे आज हम को, तू आँखें सुजाने दे
बाँहों में ले-ले और खुद को भीग जाने दे
है जो सीने में क़ैद दरिया, वो छूट जाएगा
है इतना दर्द कि तेरा दामन भीग जाएगा

जितने पास-पास धड़कन के है राज़
जितने पास बूँदों के बादल
जैसे साथ-साथ चंदा के है रात
जितने पास नैनों के काजल

जितने पास-पास सागर के लहर
उतने पास तू रहना, हमसफ़र
तू जो पास हो फिर क्या ये जहाँ?
तेरे प्यार में हो जाऊँ फ़ना

मेरे हाथ में तेरा हाथ हो
सारी जन्नतें मेरे साथ हों

अधूरी साँस थी, धड़कन अधूरी थी
अधूरे हम
मगर अब चाँद पूरा है फ़लक पे
और अब पूरे हैं हम



Credits
Writer(s): Joshi Prasoon, Pandit Jatin, Pandit Lalitraj Pratapnarayan
Lyrics powered by www.musixmatch.com

Link