Tu Hi Khwahish

हो, तू ही ख्वाहिश
हो, तू ही ख़तरा
ज़हर तेरा मुझमें उतरा

बड़ा शोर उठा है कानों में, महफ़िल में और मयख़ानों में
तेरा नशा घोलकर डाला है मैंने दिल में और पैमानों में
बड़ा शोर उठा है कानों में, महफ़िल में और मयख़ानों में
तेरा नशा घोलकर डाला है मैंने दिल में और पैमानों में

हो, तू ही ख्वाहिश
हो, तू ही ख़तरा
ज़हर तेरा मुझमें उतरा

डाका तेरा दिल पे पड़ा, लबों से तूने जो छू लिया
शोला बना, जल गया दिल मेरा, धुआँ ही, धुँआ ही धुआँ
डाका तेरा दिल पे पड़ा, लबों से तूने जो छू लिया
शोला बना, जल गया दिल मेरा, धुआँ ही, धुँआ ही धुआँ

ख़यालों में, मिसालों में, तू मिलता है प्यालों में
तेरा नशा घोलकर डाला है मैंने दिल में और पैमानों में

हो, तू ही ख्वाहिश, आह
हो, तू ही ख़तरा
ज़हर तेरा मुझमें उतरा
आह-आह, आह-आह

सदका तेरा महँगा हुआ, चस्का मुझे तेरा लगा
नाम तेरा शाम-सुबह दिल मेरा जपा ही, जपा ही जपा
सदका तेरा महँगा हुआ, चस्का मुझे तेरा लगा
नाम तेरा शाम-सुबह दिल मेरा जपा ही, जपा ही जपा

आसमानों के तहख़ानों में, तुझे ढूँढा है सितारों में
तेरा नशा घोलकर डाला है मैंने दिल में और पैमानों में

हो, तू ही ख्वाहिश
हो, तू ही ख़तरा
ज़हर तेरा, तेरा मुझमें उतरा



Credits
Writer(s): Rajat Arora
Lyrics powered by www.musixmatch.com

Link