Dilbar (From "Satyameva Jayate")

दिलबर-दिलबर

(दिलबर-दिलबर)

चढ़ा जो मुझ पे सुरूर है, असर तेरा ये ज़रूर है
तेरी नज़र का क़सूर है (दिलबर-दिलबर)
आ, पास आ, तू क्यूँ दूर है? ये इश्क़ का जो फ़ितूर है
नशे में दिल तेरे चूर है (दिलबर-दिलबर)

अब तो होश ना ख़बर है, ये कैसा असर है?
होश ना ख़बर है, ये कैसा असर है?
तुम से मिलने के बाद, दिलबर
तुम से मिलने के बाद, दिलबर

दिलबर-दिलबर, दिलबर-दिलबर
दिलबर-दिलबर, दिलबर-दिलबर

करती क़तल, ना ऐसे तू चल
पहेली का इस निकालो कोई हल
हुसन का पिटारा, खिलता कमल
कर लूँगा सबर क्योंकि मीठा है फल

तू मेरा ख़ाब है, तू मेरे दिल का क़रार
देख ले, जान-ए-मन, देख ले बस एक बार

चैन खो गया है, कुछ तो हो गया है
चैन खो गया है, कुछ तो हो गया है
तुम से मिलने के बाद, दिलबर
तुम से मिलने के बाद, दिलबर (Oh, yeah)

(Ladies)

अब तो होश ना ख़बर है, ये कैसा असर है?
होश ना ख़बर है, ये कैसा असर है?
तुम से मिलने के बाद, दिलबर
तुम से मिलने के बाद, दिलबर

(दिलबर-दिलबर)



Credits
Writer(s): Shabbir Ahmed,ikka,sameer
Lyrics powered by www.musixmatch.com

Link