Kya Tumhe Pata Hai (Male Version) [From "Dil Hai Betaab"]

क्या तुम्हें पता है, ऐ गुलशन?
क्या तुम्हें पता है, ऐ गुलशन, मेरे दिलबर आने वाले हैं?
कलियाँ ना बिछाना राहों में, हम दिल को बिछाने वाले हैं

क्या तुम्हें पता है, ऐ गुलशन, मेरे दिलबर आने वाले हैं?
कलियाँ ना बिछाना राहों में, हम दिल को बिछाने वाले हैं
क्या तुम्हें पता है, ऐ गुलशन?

ये पहली बार का मिलना भी कितना पागल कर देता है
ये पहली बार का मिलना भी कितना पागल कर देता है
कुछ-कुछ होता है साँसों में, पर ना जानूँ क्यूँ होता है

बाँहों में भर के वो हम को मदहोश बनाने वाले हैं
कलियाँ ना बिछाना राहों में, हम दिल को बिछाने वाले हैं
क्या तुम्हें पता है, ऐ गुलशन?

मासूम अदा, अंदाज नया, फूलों से हसीं वो चेहरा है
मासूम अदा, अंदाज नया, फूलों से हसीं वो चेहरा है
मेरे ख़याल की वादी में उस का ही सिर्फ़ बसेरा है

हम अपने प्यार की ये बारिश उन पे बरसाने वाले हैं
कलियाँ ना बिछाना राहों में, हम दिल को बिछाने वाले हैं

क्या तुम्हें पता है, ऐ गुलशन, मेरे दिलबर आने वाले हैं?
कलियाँ ना बिछाना राहों में, हम दिल को बिछाने वाले हैं
मेरे दिलबर आने वाले हैं, मेरे दिलबर आने वाले हैं



Credits
Writer(s): Laxmikant Shantaram Kudalkar, Pyarelal Ramprasad Sharma, Rani Mallik
Lyrics powered by www.musixmatch.com

Link