Dil Ka Yeh Anurag Hai

दिल के अंदर तू ही तू दिन-रात है
हाँ, दिल के अंदर तू ही तू दिन-रात है
तुझको चाहें, तुझको पाएँ
दिल का ये अनुराग है
दिल का ये अनुराग है

दिल के अंदर तू ही तू दिन-रात है
तुझको चाहें, तुझको पाएँ
दिल का ये अनुराग है
दिल का ये अनुराग है

यूँ तो तमन्ना सब रखते हैं
पर वो पूरी होती नहीं
यूँ तो तमन्ना सब रखते हैं
पर वो पूरी होती नहीं

ये भी सच है, हम कहते हैं
प्यार बिना कुछ भी नहीं
प्यार बिना कुछ भी नहीं

प्यार बिना कुछ भी नहीं
दिल के अंदर तू ही तू दिन-रात है
हाँ, दिल के अंदर तू ही तू दिन-रात है
तुझको चाहें, तुझको पाएँ
दिल का ये अनुराग है
दिल का ये अनुराग है

कैसे-कैसे मोड़ आते हैं
मिलते-मिलते रह जाते हैं
कैसे-कैसे मोड़ आते हैं
मिलते-मिलते रह जाते हैं

फिर भी प्रेमी हँसते हुए
प्यार में सब सह जाते हैं
प्यार में सब सह जाते हैं

प्यार में सब सह जाते हैं
दिल के अंदर तू ही तू दिन-रात है
हाँ, दिल के अंदर तू ही तू दिन-रात है
तुझको चाहें, तुझको पाएँ
दिल का ये अनुराग है
दिल का ये अनुराग है

ओ, दिल के अंदर तू ही तू दिन-रात है
दिल का ये अनुराग है



Credits
Writer(s): Himesh Vipin Reshammiya, Sudhakar Sharma
Lyrics powered by www.musixmatch.com

Link