Aye Dil Dil Ki Duniya Mein

ऐ दिल, दिल की दुनिया में ऐसा हाल भी होता है
बाहर कोई हँसता है, अंदर कोई रोता है
ऐ दिल, दिल की दुनिया में ऐसा हाल भी होता है
बाहर कोई हँसता है, अंदर कोई रोता है

ऐ दिल, कोई पहचाना नहीं, किसी ने ये माना नहीं
किसी ने ये जाना नहीं, किसी को बताना नहीं दर्द छुपा है कहाँ

ऐ दिल, दिल की दुनिया में ऐसा हाल भी होता है
बाहर कोई हँसता है, अंदर कोई रोता है

तूने मुझसे वफ़ा नहीं की
तुझको कैसे वफ़ा मिलेगी?
तूने मुझको दर्द दिया है
तुझको कैसे दवा मिलेगी?

सीने में उठते हैं अरमान ऐसे
दरिया में आते हैं तूफ़ान जैसे
कभी-कभी ख़ुद ही माझी कश्ती को डुबोता है

ऐ दिल, दिल की दुनिया में ऐसा हाल भी होता है
बाहर कोई हँसता है, अंदर कोई रोता है

काँटें चुनकर तेरा दामन फूलों से मैं भर जाऊँगा
इससे बड़ी सज़ा क्या होगी? माफ़ तुझे मैं कर जाऊँगा

होगी किसी को पहचान कैसे?
प्यार में होते हैं कुर्बान कैसे?
हमको ये मालूम ना था
प्यार भी एक समझौता है

ऐ दिल, दिल की दुनिया में ऐसा हाल भी होता है
बाहर कोई हँसता है, अंदर कोई रोता है

ऐ दिल, कोई पहचाना नहीं, किसी ने ये माना नहीं
किसी ने ये जाना नहीं, किसी को बताना नहीं दर्द छुपा है कहाँ

ऐ दिल, दिल की दुनिया में ऐसा हाल भी होता है
बाहर कोई हँसता है, अंदर कोई रोता है

ऐ दिल, दिल की दुनिया में ऐसा हाल भी होता है
बाहर कोई हँसता है, अंदर कोई रोता है



Credits
Writer(s): Anand Bakshi, Anu Malik
Lyrics powered by www.musixmatch.com

Link