Rasik Balma Se Dil Kyon Lagaya

रसिक बलमा
हाय
दिल क्यों लगाया, तोसे दिल क्यों लगाया
जैसे रोग लगाया
जैसे रोग लगाया
रसिक बलमा

जब याद आए तिहारी, सूरत वो प्यारी प्यारी
जब याद आए तिहारी, सूरत वो प्यारी प्यारी
नेहा लगा के हारी
आ...
नेहा लगा के हारी
तड़पूँ मैं ग़म की मारी

रसिक बलमा
हाय
दिल क्यों लगाया, तोसे दिल क्यों लगाया
जैसे रोग लगाया
रसिक बलमा

ढूंढे हैं पागल नैना, पाए ना इक पल चैना
ढूंढे हैं पागल नैना, पाए ना इक पल चैना
डसती है उजड़ी रैना
आ...
डसती है उजड़ी रैना
कासे कहूँ मैं बैना

रसिक बलमा
हाय
दिल क्यों लगाया, तोसे दिल क्यों लगाया
जैसे रोग लगाया
रसिक बलमा



Credits
Writer(s): Jaikshan Shankar, Jaipuri Hasrat
Lyrics powered by www.musixmatch.com

Link