Rulaker Chal Diye

रुला कर चल दिये इक दिन हँसी बन कर जो आये थे
चमन रो-रो के कहता है
चमन रो-रो के कहता है, कभी गुल मुस्कुराये थे
रुला कर चल दिये इक दिन हँसी बन कर जो आये थे

अगर दिल के ज़ुबाँ होती तो
ये ग़म कुछ कम तो हो जाता
अगर दिल के ज़ुबाँ होती तो, ये ग़म कुछ कम तो हो जाता
ये ग़म कुछ कम तो हो जाता

उधर वो चुप, इधर सीने में हम तूफ़ाँ छुपाये थे
चमन रो-रो के कहता है, कभी गुल मुस्कुराये थे
रुला कर चल दिये इक दिन हँसी बन कर जो आये थे

ये अच्छा था न हम कहते किसी से दासताँ अपनी
समझ पाये न जब अपने, पराये तो पराये थे
रुला कर चल दिये, इक दिन हँसी बन कर जो आये थे



Credits
Lyrics powered by www.musixmatch.com

Link