Gulzar's Recitation (From "Koi Baat Chale") (Sehma Sehma)

उड़ के जाते हुए पंछी ने बस इतना ही देखा
देर तक हाथ हिलती रही वह शाख़ फ़िज़ा में
अलविदा कहती थी? या पास बुलाती थी उसे?

क्या बताऍ के जॉ गई कैसे
क्या बताऍ के जॉ गई कैसे
फिर से दोहराऍ वो घड़ी कैसे
क्या बताऍ के जॉ गई कैसे

किसने रास्ते मे चॉद रखा था
किसने रास्ते मे चॉद रखा था
मुझको ठोकर वहा लगी कैसे
मुझको ठोकर वहा लगी कैसे
क्या बताऍ के जॉ गई कैसे

वक़्त पे पॉव कब रखा हमने
वक़्त पे पॉव कब रखा हमने
वक़्त पे पॉव कब रखा हमने
ज़िदगी मुह के बल गिरी कैसे
ज़िदगी मुह के बल गिरी कैसे
क्या बताऍ के जॉ गई कैसे

ऑख तो भर आई थी पानी से
ऑख तो भर आई थी पानी से
तेरी तस्वीर जल गयी कैसे
तेरी तस्वीर जल गयी कैसे
क्या बताऍ के जॉ गई कैसे

हम तो अब याद भी नही करते
हम तो अब याद भी नही करते
हम तो अब याद भी नही करते
आप को हिचकी लग गई कैसे
आप को हिचकी लग गई कैसे
क्या बताऍ के जॉ गई कैसे
फिर से दोहराऍ वो घड़ी कैसे
क्या बताऍ के जॉ गई कैसे



Credits
Writer(s): Gulzar
Lyrics powered by www.musixmatch.com

Link