Dholna

आँखों पे "मोहब्बत" लिख दे
साँसों पे "मोहब्बत" लिख दे
होंठों पे "मोहब्बत" लिख दे
कहता है दिल दीवाना

हो, जो दिल में छुपी है मेरे
जो दिल में छुपी है तेरे
धड़कन पे वो चाहत लिख दे
कहता है दिल दीवाना

ढोलिया, ढोलना, राज़-ए-दिल खोलना
ढोलिया, ढोलना, आगे कुछ तो बोलना

तेरी पलकों का झुक जाना
तेरा छुप-छुप के शर्माना
बिन बोले कह जाता है
तेरा अंजाना अफ़साना

तेरी बातों में है जादू
करता है मुझे बेकाबू
क्या हाल जिया का अब है मेरे
जाने ना जाने तू

बातों पे "मोहब्बत" लिख दे
रातों पे "मोहब्बत" लिख दे
पल-पल पे "मोहब्बत" लिख दे
कहता है दिल दीवाना

ढोलिया, ढोलना, राज़-ए-दिल खोलना
ढोलिया, ढोलना, आगे कुछ तो बोलना

तू सामने जब मेरे आई
मेरी नज़रों पे छाई
तेरा रूप-रंग जो देखा
तो उड़ गई मेरी हवाई

तेरे इश्क़ पे किया भरोसा
ना देना मुझको धोखा
तेरी ओर खिंची चली आई मैं तो
खुद को कितना रोका

हाए, धरती पे "मोहब्बत" लिख दे
अंबर पे "मोहब्बत" लिख दे
मंज़र पे "मोहब्बत" लिख दे
कहता है दिल दीवाना

ढोलिया, ढोलना, राज़-ए-दिल खोलना
ढोलिया, ढोलना, आगे कुछ तो बोलना

आँखों पे (आँखों पे)
साँसों पे (साँसों पे)
होंठों पे (होठों पे)
बातों पे (बातों पे)

रातों पे (रातों पे)
पल-पल पे (पल-पल पे)
मेरे दिल पे "मोहब्बत" लिख दे



Credits
Writer(s): Anand Bakshi
Lyrics powered by www.musixmatch.com

Link