Dil Na Jaane Kyun

दिल न जाने क्यों तुझपे है आ रहा
ये मेरा दिल न जाने क्यूँ तुझपे है आ रहा
दिल कोई खता करता ही जा रहा
ये मेरा दिल कोई खता करता ही जा रहा

पेहचाना है अभी एहसास है ये नया
न जाने क्या हो गया हो इक पल में
की जैसे दिल मिल गए हो इक पल में
न जाने क्या हो गया हो इक पल में
की जैसे दिल मिल गए हो इक पल में

आ हे इस रात का आज असर कैसा औ वो हो
होने लगा है तू भी मेरे जैसा औ वो हो
हाँ हे इस रात का आज असर कैसा औ वो हो
होने लगा है में भी तोह तेरे जैसा औ वो हो
हाँ लम्हा ये ख़रीदा है मैंने
तेरे लिए ही रातों से
दिल चाहे ये पल यूँही बीते
आज तेरी ही बातों से
मिलता ही नहीं कहीं और ऐसा नशा
न जाने क्या हो गया हो इक पल में
की जैसे दिल मिल गए हो इक पल में
न जाने क्या हो गया हो इक पल में
की जैसे दिल मिल गए हो इक पल में



Credits
Writer(s): Sachin-jigar
Lyrics powered by www.musixmatch.com

Link