Woh Chand Khila

वो चाँद खिला, वो तारे हँसे
ये रात अजब मतवाली है
वो चाँद खिला, वो तारे हँसे
ये रात अजब मतवाली है
समझने वाले समझ गये हैं
ना समझे, ना समझे वो अनाड़ी हैं
वो चाँद खिला, वो तारे हँसे
ये रात अजब मतवाली है
समझने वाले समझ गये हैं
ना समझे, ना समझे वो अनाड़ी हैं
वो चाँद खिला, वो तारे हँसे
ये रात अजब मतवाली है

चाँदी सी चमकती राहें
वो देखो झूम झूम के बुलायें
चाँदी सी चमकती राहें
वो देखो झूम झूम के बुलायें
किरणों ने पसारी बाहें
कि अरमाँ नाच नाच लहराये
बाजे दिल के तार, गाये ये बहार
उभरे है प्यार जीवन में
बाजे दिल के तार, गाये ये बहार
उभरे है प्यार जीवन में

वो चाँद खिला, वो तारे हँसे
ये रात अजब मतवाली है
समझने वाले समझ गये हैं
ना समझे, ना समझे वो अनाड़ी हैं
वो चाँद खिला, वो तारे हँसे
ये रात अजब मतवाली है

किरणों ने चुनरिया तानी
बहारें किस पे आज हैं दीवानी
किरणों ने चुनरिया तानी
बहारें किस पे आज हैं दीवानी
चन्दा की चाल मस्तानी
है पागल जिस पे रात की रानी
तारों का जाल, ले ले दिल निकाल
पूछो न हाल मेरे दिल का
तारों का जाल, ले ले दिल निकाल
पूछो न हाल मेरे दिल का
वो चाँद खिला, वो तारे हँसे
ये रात अजब मतवाली है
समझने वाले समझ गये हैं
ना समझे, ना समझे वो अनाड़ी हैं
वो चाँद खिला, वो तारे हँसे
ये रात अजब मतवाली है



Credits
Writer(s): Jaikshan Shankar, Jaipuri Hasrat
Lyrics powered by www.musixmatch.com

Link