Zindagi Mein Jab

जिन्दगी में जब तुम्हारे गम नहीं थे
इतने तनहा थे के हम भी हम नहीं थे

वक्तपर जो लोग काम आये हैं अक्सर अजनबी थे वो मेरे हमदम नहीं थे बेसबब

था तेरा मिलना रहगुजर में हादसे हर मोड़ पर कुछ कम नहीं थे हम ने ख्वाबो में खुदा

बनकर भी देखा आप की बाहों में वो आलम नहीं थे सामने दीवार थी खुद्दारियों की वरना रास्तें प्यार के पुरखम नहीं थे



Credits
Writer(s): BHUPENDER SINGH, BHUPINDER SINGH
Lyrics powered by www.musixmatch.com

Link