Zindagi Pyar Ki Do Char Ghadi

ज़िंदगी प्यार की दो-चार घड़ी होती है
ज़िंदगी प्यार की दो-चार घड़ी होती है
चाहे थोड़ी भी हो, ये उम्र बड़ी होती है
चाहे थोड़ी भी हो, ये उम्र बड़ी होती है
ज़िंदगी प्यार की दो-चार घड़ी होती है

ताज या तख़्त या दौलत हो ज़माने भर की
ताज या तख़्त या दौलत हो ज़माने भर की
कौन सी चीज़ मुहब्बत से बड़ी होती है?
कौन सी चीज़ मुहब्बत से बड़ी होती है?

ज़िंदगी प्यार की दो-चार घड़ी होती है
चाहे थोड़ी भी हो, ये उम्र बड़ी होती है
चाहे थोड़ी भी हो, ये उम्र बड़ी होती है
ज़िंदगी प्यार की दो-चार घड़ी होती है

दो मुहब्बत भरे दिल साथ धड़कते हो जहाँ
दो मुहब्बत भरे दिल साथ धड़कते हो जहाँ
सबसे अच्छी वो मुहब्बत की घड़ी होती है
सबसे अच्छी वो मुहब्बत की घड़ी होती है

ज़िंदगी प्यार की दो-चार घड़ी होती है
चाहे थोड़ी भी हो, ये उम्र बड़ी होती है
चाहे थोड़ी भी हो, ये उम्र बड़ी होती है
ज़िंदगी प्यार की दो-चार घड़ी होती है
ज़िंदगी प्यार की दो-चार घड़ी होती है



Credits
Writer(s): C. Ramchandra, Hasrat Jaipuri, Jahannisar Aktar, Rajendra Krishan, Shailendra
Lyrics powered by www.musixmatch.com

Link