Lo Aa Gayi Unki Yaad

लो आ गई उनकी याद, वो नहीं आए
लो आ गई उनकी याद, वो नहीं आए

दिल उनको ढूँढ़ता है, ग़म का सिंगार कर के
आँखें भी थक गई है, अब इंतज़ार कर के
आँखें भी थक गई है, अब इंतज़ार कर के

इक साँस रह गई है, वो भी ना टूट जाए
लो आ गई उनकी याद, वो नहीं आए

रोती हैं आज हम पर तनहाईयाँ हमारी
रोती हैं आज हम पर तनहाईयाँ हमारी
वो भी ना पाए शायद परछाईयाँ हमारी

बढ़ते ही जा रहे हैं मायूसियों के साए
लो आ गई उनकी याद, वो नहीं आए

लौ थरथरा रही है, अब शम्म-ए-ज़िन्दगी की
उजड़ी हुई मोहब्बत, महमाँ है दो घड़ी की
उजड़ी हुई मोहब्बत, महमाँ है दो घड़ी की

मर कर ही अब मिलेंगे, जी कर तो मिल ना पाए
लो आ गई उनकी याद, वो नहीं आए
लो आ गई उनकी याद, वो नहीं आए



Credits
Writer(s): Ravi, Shakeel Badayuni
Lyrics powered by www.musixmatch.com

Link