Ye Toh Sach Hai Ke Bhagwan

ये तो सच है कि भगवान है
है मगर फ़िर भी अंजान है
ये तो सच है कि भगवान है
है मगर फ़िर भी अंजान है

घरती पे रूप माँ-बाप का
उस विधाता की पहचान है
ये तो सच है कि भगवान है

जन्मदाता है जो, नाम जिनसे मिला
थाम कर जिनकी उँगली है बचपन चला

कांधे पर बैठ के जिनके देखा जहां
ज्ञान जिनसे मिला, क्या बुरा? क्या भला?

इतने उपकार हैं क्या कहें?
ये बाताना ना आसान है

घरती पे रूप माँ-बाप का
उस विधाता की पहचान है
ये तो सच है कि भगवान है

जन्म देती है जो, माँ जिसे जग कहे
अपनी संतान में प्रांण जिसके रहे

लोरियाँ होंठों पर, सपने बुनती नज़र
नींद जो वार दे, हँस के हर दुःख सहे

ममता के रूप में है प्रभु
आपसे पाया वरदान है

घरती पे रूप माँ-बाप का
उस विधाता की पहचान है
ये तो सच है कि भगवान है

आपके ख़्वाब हम, आज होकर जवाँ
उस परम शक्ति से करते हैं प्रार्थना

इनकी छाया रहे, रहती दुनिया तलक़
एक पल रह सकें, हम ना जिनके बिना

आप दोनों सलामत रहें
सबके दिल में ये अरमान है

घरती पे रूप माँ-बाप का
उस विधाता की पहचान है

ये तो सच है कि भगवान है
है मगर फ़िर भी अंजान है
घरती पे रूप माँ-बाप का
उस विधाता की पहचान है



Credits
Writer(s): Mitalee Shashank, Raam Laxman, Ravindra Rawal Ki
Lyrics powered by www.musixmatch.com

Link