Matargashti

मटरगश्ती खुली सड़क में
तगड़ी तड़क भड़क में
ओले गिरे सुलगते से
सुलगते से सड़क में

छतरी ना थी बगल में
आया ही ना अकल में
के भागे हम
या भीगे हम अकड़ में तो
सोचा फिर

गीला हुआ है जो सुखाना हो हो हो
चाहे ज़नाना या मर्दाना हो हो हो
Attention
फैंका नया पासा
फिर दे गयी झांसा
ऐवें मुझे फांसा
तेरी ऐसी की हो तैसी ज़िन्दगी

फैंका नया पासा
फिर दे गयी झांसा
ऐवें मुझे फांसा
चिरकुट ज़िन्दगी यूँ ना

तू ही है वो
जिससे खेला था मैं खो-खो
खेला था खो तू है
लैला शिरी सोहनी Juliet सुन लो
मुझको ढूँढो ना जंगल में

मैं तो, Whatsapp में हूँ, हा हा हा
ना तेरा, ना मेरा ज़माना, हो हो हो
ना ये ज़नाना ना मरदाना हो हो हो
ओ गड़बड़, फैंका नया पासा
फिर दे गयी झांसा
ऐवें मुझे फांसा
चिरकुट ज़िन्दगी यूँ ना

तू ही है वो जिसने खेंची मेरी धोती
धोती खैंची अब तू ढूंढे कहाँ बंदे
ना मैं काबा काशी, मैं Twitter पे हूँ
DP मेरी देखो, हो ओ हो

सुन रे सुन बेलिया
दिल ने धोखा दिया
आँखें मिली तुमसे नाज़नी
मेरे होश-ओ-हवास खो गए
हो दिल ने रो रो कहा

ये आँखें है दिल की जुबां
ख्वाब रोज़ रोज़ देखे नए
हो दिल का भंवर बोले सुन साथिया

छुप ना दुपट्टे में तू ओ छलिया
प्रेम पुजारी के दिल का बयां होता रहा
रोता रहा प्रिये
तो फिर टंग टंग टंग टंग टंग टंग टंग टंग...

मटरगश्ती खुली सड़क में
तगड़ी तड़क भड़क में
ओले गिरे सुलगते से
सुलगते से सड़क में
छतरी ना थी बगल में
आया ही ना अकल में
के भागे हम
या भीगे हम अकड़ में तो सोचा फिर

गीला हुआ है जो सुखाना हो हो हो
चाहे ज़नाना या मर्दाना हो हो हो
Attention
फैंका नया पासा
फिर दे गयी झांसा
ऐवें मुझे फांसा
तेरी ऐसी की हो तैसी ज़िन्दगी

फैंका नया पासा
फिर दे गयी झांसा
ऐवें मुझे फांसा
चिरकुट ज़िन्दगी यूँ ना



Credits
Writer(s): Rahman A R, Kamil Irshad
Lyrics powered by www.musixmatch.com

Link