Tere Bin

तेरे बिन मैं यूँ कैसे जिया
कैसे जीया तेरे बिन?
तेरे बिन मैं यूँ कैसे जिया
कैसे जीया तेरे बिन?
लेकर यादें तेरी, रातें मेरी कटी
लेकर यादें तेरी, रातें मेरी कटी
मुझसे बातें तेरी, करती है चाँदनी
तन्हा है तुझ बिन रातें मेरी
दिन मेरे दिन के जैसे नहीं

तन्हा बदन, तन्हा है रूह, नम मेरी आँखें रहे
आजा मेरे, अब रू-ब-रू जीना नहीं बिन तेरे

तेरे बिन मैं यूँ कैसे जिया
कैसे जीया तेरे बिन?
तेरे बिन मैं यूँ कैसे जिया
कैसे जीया तेरे बिन?

कब से आँखें मेरी, राह में तेरे बिछीं
कब से आँखें मेरी, राह में तेरे बिछीं
भूले से ही कभी, तू मिल जाए कहीं
भूलें ना मुझसे बातें तेरी
भीगी है हर पल आँखें मेरी

क्यूँ साँस लूँ? क्यूँं मैं जीयूँ?
जीना बुरा सा लगे
क्यूँ हो गया तू बेवफा?
मुझको बता दे वजह

तेरे बिन मैं यूँ कैसे जिया
कैसे जीया तेरे बिन?
तेरे बिन मैं यूँ कैसे जिया
कैसे जीया तेरे बिन?

तेरे बिन मैं यूँ कैसे जिया
कैसे जीया तेरे बिन?
तेरे बिन मैं यूँ कैसे जिया
कैसे जीया तेरे बिन?

तेरे बिन, तेरे बिन, तेरे बिन
तेरे बिन, तेरे बिन, तेरे बिन ऐसे जीया



Credits
Writer(s): Sayeed Quadri, Mithun Naresh Sharma
Lyrics powered by www.musixmatch.com

Link