Gawah Hai Chand Tare - From "Damini"

गवाह है, चाँद-तारे गवाह हैं
गवाह है, चाँद-तारे गवाह हैं
तेरे-मेरे मिलन के
अपने दीवानेपन के नज़ारें गवाह हैं

गवाह है, चाँद-तारे गवाह हैं
गवाह है, चाँद-तारे गवाह हैं
तेरे-मेरे मिलन के
अपने दीवानेपन के नज़ारें गवाह हैं
गवाह है, चाँद-तारे गवाह हैं

तुमको रखूँगा दिल में बसा के, मेरी धड़कन तुम हो
देखूँगा तुमको शाम-ओ-सहर मैं, मेरा दर्पण तुम हो

तुमको रखूँगा दिल में बसा के, मेरी धड़कन तुम हो
देखूँगा तुमको शाम-ओ-सहर मैं, मेरा दर्पण तुम हो
जी ना सकूँगा मैं होके जुदा

गवाह है, चाँद-तारे गवाह हैं
गवाह है, चाँद-तारे गवाह हैं
तेरे-मेरे मिलन के
अपने दीवानेपन के नज़ारें गवाह हैं
गवाह है, चाँद-तारे गवाह हैं

दामिनी, दामिनी, दामिनी, ओ मेरी दामिनी
दामिनी, दामिनी, दामिनी, ओ मेरी दामिनी

भूल गई मैं इस दुनिया को प्यार हुआ जब से
तेरे सिवा कुछ और ना माँगू मैं तो मेरे रब से

भूल गई मैं इस दुनिया को प्यार हुआ जब से
तेरे सिवा कुछ और ना माँगू मैं तो मेरे रब से
सीने में अरमाँ हैं, लब पे दुआ

गवाह है, चाँद-तारे गवाह हैं
गवाह है, चाँद-तारे गवाह हैं
तेरे-मेरे मिलन के
अपने दीवानेपन के नज़ारें गवाह हैं
गवाह है, चाँद-तारे गवाह हैं
गवाह है, चाँद-तारे गवाह हैं

दामिनी, दामिनी, दामिनी, ओ मेरी दामिनी
दामिनी, दामिनी, दामिनी, ओ मेरी दामिनी
दामिनी, दामिनी, दामिनी, मैं तेरी दामिनी
दामिनी, दामिनी, दामिनी, मैं तेरी दामिनी



Credits
Writer(s): Sameer, Nadeem Shravan
Lyrics powered by www.musixmatch.com

Link