Aap Ki Ankhon Mein Kuch - From "Ghar"

आपकी आँखों में कुछ महके हुए से राज़ हैं
आपकी आँखों में कुछ महके हुए से राज़ हैं
आपसे भी खूबसूरत आपके अंदाज़ हैं
आपकी आँखों में कुछ महके हुए से राज़ हैं

लब हिले तो मोगरे के फूल खिलते हैं कहीं
लब हिले तो मोगरे के फूल खिलते हैं कहीं

आपकी आँखों में क्या साहिल भी मिलते हैं कहीं?
आपकी खामोशियाँ भी आपकी आवाज़ हैं
आपकी आँखों में कुछ महके हुए से राज़ हैं

आपसे भी खूबसूरत आपके अंदाज़ हैं
आपकी आँखों में कुछ महके हुए से राज़ हैं

आपकी बातों में फिर कोई शरारत तो नहीं
आपकी बातों में फिर कोई शरारत तो नहीं

बेवजह तारीफ़ करना आपकी आदत तो नहीं
आपकी बदमाशियों के ये नये अंदाज़ हैं
आपकी आँखों में कुछ महके हुए से राज़ हैं

ओ-हो, आपसे भी खूबसूरत आपके अंदाज़ हैं
आपकी आँखों में कुछ महके हुए से राज़ हैं



Credits
Writer(s): Rahul Dev Burman, Gulzar
Lyrics powered by www.musixmatch.com

Link