Yaaram

हम चीज़ हैं बड़े काम की यारम
हमे काम पे रख लो कभी यारम
हम चीज़ हैं बड़े काम की यारम

हो सूरज से पहले जगायेंगे
और अखबार की सब सुर्खियाँ हम गुनगुनायेंगे
पेश करेंगे गर्म चाय फिर
कोई खबर आई ना पसंद तो end बदल देंगे

हो, मुंह खुली जम्हाई पर हम बजाये चुटकियाँ

धुप ना तुम को लगे खोल देंगे छतरियां

पीछे पीछे दिन भर
घर दफ्तर में ले के चलेंगे हम
तुम्हारी फाइलें, तुम्हारी डायरी
गाड़ी की चाबिया, तुम्हारी एनके
तुम्हारा लैपटॉप, तुम्हारी कैप फ़ोन
और अपना दिल, कंवारा दिल, प्यार में हारा बेचारा दिल
और अपना दिल कंवारा दिल, प्यार में हारा, बेचारा दिल

ये कहने में कुछ रिस्क है यारम
नाराज़ ना हो इश्क है यारम

हो रात सवेरे शाम या दोपहरी

बंद आँखों में ले के तुम्हे ऊँघा करेंगे हम

तकिये चादर महके रहते हैं

जो तुम गए तुम्हारी खुशबू सुंघा करेंगे हम

ओ ज़ुल्फ़ में फँसी हुई खोल देंगे बालियाँ

कान खिंच जाए अगर खा लें मीठी गलिया

चुनते चले पैरों के निशान की उन पर और ना पांव पड़े

तुम्हारी धड़कने तुम्हारी दिल सुने
तुम्हारी सांस सुने लगी कंपकपी
ना गजरे बुने जूही मोगरा तो कभी दिल

हमारा दिल प्यार में हारा बेचारा दिल
हमारा दिल हमारा दिल
प्यार में हारा
बेचारा दिल



Credits
Writer(s): Gulzar, Vishal Bhardwaj
Lyrics powered by www.musixmatch.com

Link