Habibi Ke Nain

हबीबी के नैन (हबीबी के नैन)
निकले फ़रेबी (फ़रेबी)
फ़रेबी रे (फ़रेबी रे), फ़रेबी, हाय

चोरी-चोरी सुन गया दिल की बातें
धीरे-धीरे ले गया सारी रातें

ਲਾ ਲਈਆਂ, ਲਾ ਲਈਆਂ ਅੱਖਾਂ
बन के मन के करीबी
हबीबी के नैन निकले फ़रेबी
फ़रेबी रे, फ़रेबी, फ़रेबी रे, फ़रेबी
फ़रेबी रे, फ़रेबी, फ़रेबी

हबीबी के नैन निकले फ़रेबी
हबीबी के नैन निकले फ़रेबी
फ़रेबी रे, फ़रेबी, फ़रेबी रे, फ़रेबी
फ़रेबी रे, फ़रेबी, फ़रेबी

तेरी नज़र ने की है वो साज़िश
ले गया दिल मेरा बन के मुहाफ़िज़
तू माने या ना तू माने
कह दिया रब से तू मेरा हाफ़िज़

थोड़ा फ़रेबी तू, थोड़ी फ़रेबी मैं
इतना भी प्यार ना कर, लगे जीने से डर

ਲਾ ਲਈਆਂ, ਲਾ ਲਈਆਂ ਅੱਖਾਂ
बन के मन के करीबी
हबीबी के नैन निकले फ़रेबी
फ़रेबी रे, फ़रेबी, फ़रेबी रे, फ़रेबी
फ़रेबी रे, फ़रेबी, फ़रेबी

हबीबी के नैन निकले फ़रेबी
हबीबी के नैन निकले फ़रेबी
फ़रेबी रे, फ़रेबी, फ़रेबी रे, फ़रेबी
फ़रेबी रे, फ़रेबी, फ़रेबी

हबीबी के नैन निकले फ़रेबी रे, फ़रेबी रे, फ़रेबी

मौजूदगी में दुनिया की तूने
कर दिया मुझपे ये कैसा जादू?
हाँ, जग भी जाने, रब भी जाने
जान के तू अंजान ना जाने

बन के करीबी यूँ निकले फ़रेबी क्यूँ?
हाँ-हाँ, ना कर के मुफ़्त में दिल ले गए

ਲਾ ਲਈਆਂ, ਲਾ ਲਈਆਂ ਅੱਖਾਂ
बन के मन के करीबी
हबीबी के नैन निकले फ़रेबी
फ़रेबी रे, फ़रेबी, फ़रेबी रे, फ़रेबी
फ़रेबी रे, फ़रेबी, फ़रेबी

हबीबी के नैन निकले फ़रेबी
हबीबी के नैन निकले फ़रेबी
फ़रेबी रे, फ़रेबी, फ़रेबी रे, फ़रेबी
फ़रेबी रे, फ़रेबी, फ़रेबी



Credits
Writer(s): Sajid Khan, Irfan Kamal
Lyrics powered by www.musixmatch.com

Link