Tere Mohalle

खिड़की से मुझे ताँके
सारे गली के बाँके

खिड़की से मुझे ताँके
सारे गली के बाँके
खिड़की से मुझे ताँके
सारे गली के बाँके

सबको लल्लु बना के दिल फेंका तुझ पर

हम लुट गए ऐंवई आ के तेरे मोहल्ले
हम लुट गए ऐंवई आ के तेरे मोहल्ले
हम लुट गए ऐंवई आ के तेरे मोहल्ले
हम लुट गए ऐंवई आ के तेरे मोहल्ले

क्यूँ लम्बी-लम्बी हाँके?
कोई ना तुझे ताँके

क्यूँ लम्बी-लम्बी हाँके?
कोई ना तुझे ताँके
क्यूँ लम्बी-लम्बी हाँके?
कोई ना तुझे ताँके

किसको लल्लु बना के कहती रहती है फिर?

के लुट गए ऐंवई आ के तेरे मोहल्ले
हम लुट गए ऐंवई आ के तेरे मोहल्ले
(हम लुट गए, baby, आ के तेरे मोहल्ले)
(हम लुट गए ज़ालिम आ के तेरे मोहल्ले)

(हम सिकंदर हैं अपनी मर्ज़ी के)
(चुटकी लागे हमें ये दिल फँसाने में)
मेरे जलवे में बेटा वो दम है
निकले सारी उमर मुझे पटाने में

करा लो जी करा लो, दिल की FD करा लो
अँगूठा भी लगवा लो दिल फेंका तुझ पर

हम लुट गए ऐंवई आ के तेरे मोहल्ले
हम लुट गए ऐंवई आ के तेरे मोहल्ले
(हम लुट गए, हम लुट गए, हम लुट गए, लुट गए, लुट गए)
(हम लुट गए, हम लुट गए, हम लुट गए, लुट गए, लुट गए)
(हम लुट गए जानाँ आ के तेरे मोहल्ले)
(हम लुट गए beauty आ के तेरे मोहल्ले)

बड़ी मुँहफट है ये जवानी भी
डरती नहीं है ये तो भिड़ जाने से
ओ, चल कट ले तू, कितना फेंके है
ज़रा भी दम नहीं है तेरे ड्रामे में

बढ़ा लो जी बढ़ा लो रिलेशनवा बढ़ा लो
नैनों के पेंच लड़ा लो, आ जाओ ना छत पर

(हम लुट गए, baby, आ के तेरे मोहल्ले)
(हम लुट गए ज़ालिम आ के तेरे मोहल्ले)

खिड़की से मुझे ताँके
सारे गली के बाँके
क्यूँ लम्बी-लम्बी हाँके?
कोई ना तुझे ताँके

किसको लल्लु बना के कहती रहती है फिर?

हम लुट गए ऐंवई आ के तेरे मोहल्ले
हम लुट गए ऐंवई आ के तेरे मोहल्ले
(हम लुट गए, baby, आ के तेरे मोहल्ले)
(हम लुट गए ज़ालिम आ के तेरे मोहल्ले)

दीवाने हैं दिलों को हम तो जोड़ेंगे
ना घर का तुम्हें घाट का ना छोड़ेंगे
क्यूँ बाज़ ना आती है खींचा-तानी से?
हाय, हम popular हैं अपनी मनमानी से

(हम लुट गए, लुट गए) जानाँ, हम लुट गए
(हम लुट गए, लुट गए) ऐंवेई, हम लुट गए
(हम लुट गए, लुट गए) baby, हम लुट गए
(हम लुट गए, लुट गए) ज़ालिमा लुट गए



Credits
Writer(s): Nikhat Khan
Lyrics powered by www.musixmatch.com

Link