Aisa Kyon Hota Hai

न बोले तुम, न मैंने कुछ कहा
मगर न जाने ऐसा क्यों लगा
कि धूप में खिला है चाँद, दिन में रात हो गई
ये प्यार की बिना कहे सुने ही बात हो गई
न बोले तुम, न मैंने कुछ कहा
मगर न जाने ऐसा क्यों लगा
कि धूप में खिला है चाँद, दिन में रात हो गई
ये प्यार की बिना कहे सुने ही बात हो गई

बदल रही है ज़िंदगी, बदल रहे हैं हम
आ आ आ आ आ आ आ
थिरक रहे हैं जाने आज क्यों मेरे कदम
मेरे कदम, मेरे कदम
किसी को हो न हो मगर हमें तो है पता
न बोले तुम, न मैंने कुछ कहा
मगर न जाने ऐसा क्यों लगा
कि धूप में खिला है चाँद, दिन में रात हो गई
ये प्यार की बिना कहे सुने ही बात हो गई

घुली सी आज साँसों में किसी की साँस है
साँस है, साँस है
ये कौन आज दिल के मेरे आस-पास है
आ आ आ आ आ आ आ
ये धीरे-धीरे हो रहा है प्यार का नशा
न बोले तुम, न मैंने कुछ कहा
मगर न जाने ऐसा क्यों लगा
कि धूप में खिला है चाँद, दिन में रात हो गई

ये लग रहा है सारी उलझनें सुलझ गईं
सुलझ गईं, सुलझ गईं
ये धड़कनों की बात धड़कें समझ गईं
आ आ आ आ आ आ आ
न बोलिये की बोलने को कुछ नहीं रहा

न बोले तुम, न मैंने कुछ कहा
मगर न जाने ऐसा क्यों लगा
कि धूप में खिला है चाँद, दिन में रात हो गई
ये प्यार की बिना कहे सुने ही बात हो गई



Credits
Writer(s): Anandji V Shah, Anjaan, Kalyanji Virji Shah
Lyrics powered by www.musixmatch.com

Link