Teri Katili Nigahon Ne Mara

हाँ, तेरी कटीली निगाहों ने मारा
तेरी कटीली निगाहों ने मारा
तेरी कटीली निगाहों ने मारा

आ, तेरी कटीली निगाहों ने मारा
निगाहों ने मारा, मारा
अदाओं ने मारा

हाँ, तेरी कटीली निगाहों ने मारा
तेरी कटीली निगाहों ने मारा
तेरी कटीली

तेरी नज़र से जो कोई नज़र लड़ाएगा
हाए, हाँ
तेरी नज़र से जो कोई नज़र लड़ाएगा
वो दिल पे चोट कलेजे पे तीर खायेगा

तरह-तरह से सरे राह कलबलाएगा
कहीं पनाह ज़माने में नहीं पायेगा
जिधर वो जाएगा ज़ालिम ये कहता जाएगा

तेरी कटीली निगाहों ने मारा
तेरी कटीली निगाहों ने मारा
अदाओं ने मारा
मारा, मारा
तेरी कटीली

हाँ, कहीं किसी को ये तलवार बनके मार गए
हाँ, कहीं किसी को ये तलवार बनके मार गई
कहीं ये ज़ुल्फ़ सियावार करके मार गई
गले पड़ी जो कहीं, हाए

गले पड़ी जो कहीं हार बनके मार गई
अजीब लाल रुफ़ यार बनके मार गई
हुज़ूर मालिको को नार ऐसी मार गई

तेरी कटीली निगाहों ने मारा
तेरी कटीली अदाओं ने मारा
मारा, मारा, मारा

तेरी कटीली निगाहों ने मारा
तेरी कटीली निगाहों ने मारा, मारा
तेरी कटीली निगाहों ने मारा
तेरी कटीली निगाहों ने मारा

तेरी कटीली निगाहों ने मारा
तेरी कटीली, तेरी कटीली
तेरी कटीली



Credits
Writer(s): Ustad Shafaqat Ali Khan, Traditional, Muzzafar Ali
Lyrics powered by www.musixmatch.com

Link